May 24, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

अस्पताल में एंबुलेंस चालक ने की परिजन से मारपीट, बुजुर्ग मरीज को धक्का दिया, सदमे में दम तोड़ा

मित्रों के साथ शेयर करें


जबलपुर। मरीजों की जान बचाने के लिए मेडिकल स्टाफ और एंबुलेंस स्टाफ के कई किस्से सुने होंगे, लेकिन कभी ऐसा भी हो सकता है जब मरीज को लेने आए एंबुलेंस चालक ने मरीज की ही हत्या कर दी।

जबलपुर में ऐसा ही हृदयविदारक मामला सामने आया है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कालेज अस्पताल में यह घटना हुई है। जिसने भी सुना उसके रोंगटे खड़े हो गए। मरीज को बचाने के लिए लेने आया एंबुलेंस चालक ही हैवान बन गया और उसने बुजुर्ग महिला की जान ले ली।

दरअसल, मरीज के परिजनों ने बुजुर्ग महिला को अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस की बुकिंग की थी। लेकिन, बाद में मरीज के परिजन ने बुकिंग कैंसिल कर दी तो उससे नाराज ड्राइवर हैवान बन गया और उसने मरीज को ही बेड पर से धक्का दे दिया। लड़ाई झगड़े और धक्के का ऐसा सदमा मरीज पर पहुंचा कि उसने वहीं दम तोड़ दिया।

बताया जा रहा है कि अस्पताल से जुड़ी एम्बुलेंस के ड्राइवर और वार्ड ब्वाय ने एक मरीज के परिवार के साथ मारपीट कर दी। इस घटना में बुजुर्ग महिला की धक्का-मुक्की के दौरान मौत हो गई। मामला अब थाने पहुंच गया है और एफआइआर दर्ज कर ली गई है।

पुलिस के अनुसार नरसिंहपुर जिले के रहने वाले हेमंत सिंह अपनी नानी फूलबाई को लेकर जबलपुर के मेडिकल कॉलेज अस्पताल लेकर आए थे। उनके लिवर में इंफेक्शन हो गया था। फूलबाई को आइसीयू में एडमिट किया गया था। इलाज के बाद राहत मिली तो उन्हें जनरल वॉर्ड में शिफ्ट कर दिया गया। उसी वक्त फूलबाई के बाजू वाले पलंग पर भर्ती एक मरीज की मौत हो गई। परिवारवालों ने उनका पार्थिव शरीर ले जाने के लिए एक एंबुलेंस बुक करानी चाही, लेकिन उसने 8 हजार रुपए किराया बताया। यह रुपया अधिक होने के कारण परिवार ने फूलबाई के नाती हेमंत से मदद मांगी। हेमंत ने तत्काल ही दूसरी एम्बुलेंस चालक से बात कर 4 हजार रुपए में एंबुलेंस की व्यवस्था करवा दी।

इसी बात से एंबुलेंस का ड्राइवर गुस्सा हो गया। ड्राइवर वार्ड ब्वाय के साथ वार्ड तक पहुंच गया। दोनों हेमंत के साथ मारपीट करने लगे। मारपीट के दौरान ड्राइवर ने बीमार बुजुर्ग फूल बाई को धक्का दे दिया, जिससे उनकी नाम से खून बहने लगा और सदमें के कारण कुछ ही देर में उनकी मौत हो गई। वार्ड में मौजूद डाक्टरों ने एंबुलेंस चालक और ड्राइवर को रोकने का प्रयास किया लेकिन वे नहीं रुके, वे मारपीट करते रहे। डायल 100 को फोन करने के बाद पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पीड़ित पक्ष की शिकायत के बाद केस रजिस्टर्ड कर लिया गया है। खास बात यह है कि जिस समय यह घटना हुई, वहां पर सीसीटीवी कैमरे बंद थे।



अपने क्षेत्र के व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप एवं फेसबुक ग्रुप से जुड़ने, के लिए यहां क्लिक करें

   लाइक फ़ेसबुक पेज     

   यूट्यूब चैनल लाइक एवं सब्सक्राइब   

कृपया ज्‍यादा से ज्‍यादा शेयर करें। तथा कमेंट में अपने विचार प्रस्‍तुत करें।

सबसे पहले न्‍यूज पाने के लिए नीचे लाल बटन पर क्लिक करके सब्‍सक्राइब करें।

अगर दुनिया से पहले चीजों को जानने का जुनून है, खबरों के पीछे की खबर जानने का चस्का है, आपकी कलम में है वो ताकत, जो केवल सच लिखे, जिसे पढ़ने के लिए लोग बेताब हो।

तो आइये हमारे साथ और अपनी कलम की सच्‍चाई को सबके सामने रखने का मौका आज ही रजिस्‍टर करें हमारे साथ या फिर बिना रजिस्‍टर के भी अपने विचार सबके सामने रख सकते हैं। आपके विचारों को सबके सामने लाने का जिम्‍मा हमारा।

अभी रजिस्‍टर करें

अपने विचार रखें

हाल की खबरें


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!