July 18, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

60 वर्षीय गया प्रसाद कुसराम की हुई अंधी हत्या का खुलासा

मित्रों के साथ शेयर करें

  • जादू टोना के शक में हत्या कर गर्दन से सिर काटकर सिर को दफना दिया था मरघटाई में
  • पांचो हत्यारे  गिरफ्तार, घटना में प्रयुक्त बका, सब्बल, कुदाली जप्त*  
  • थाना तिलवारा 602/21 धारा 302,201 भादवि

*जप्ती-*   घटना के वक्त पहने हुये खून लगे कपड़े, 3 बका, 1 सब्बलनुमा रॉड, 1 कुदाली, मृतक का पर्स , तावीज जप्त।

*घटना विवरण* –  थाना तिलवारा में दिनांक 29-11-21 की दोपहर  लगभग 2 बजे परासिया हार में गया प्रसाद कुशराम के शव पड़े होने की सूचना पर तत्कालीन थाना प्रभारी तिलवारा परिवीक्षाधीन उप पुलिस अधीक्षक श्री राहुल सयैम हमराह स्टाफ को लेकर तत्काल मौके पर पहुंचे जहॉ अमर मरावी उम्र 21 वर्ष निवासी परासिया ने बताया था कि वह कॉलेज में पढ़ाई कर रहा है उसके मामा गावं मे ही रहते हैं वह आज सरपंच राम सिंह मामा के घर चरगवां गया था, मामी गुड्डी बाई ने बताया कि जानकारी मिली है मामा गया प्रसाद को किसी ने मार दिया है जो खेत में पड़े हैं सूचना मिलने पर वह मामा के लड़के शिव कुमार के साथ बड़े मामा गया प्रसाद के खेत आया, खेत मे छिवला के पेड़ के पास घास पूस की टपरिया है, मामा की लाश बिना सिर के पट हालत में पड़ी थी । उसके मामा रात में खेत में सोते थे दिनांक 28-11-21 को मामा रोज की तरह खेत में सोने गये थे किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा धारदार हथियार से हमला कर उसके मामा गया प्रसाद कुशराम उम्र 60 वर्ष की हत्या कर सिर काट कर साक्ष्य छुपाने की नियत से सिर कहीं फैंक दिया गया है ।

*नाम पता गिरफ्तार आरोपी-*
1-विजय कुमार बरकड़े पिता शंकरलाल बरकड़े उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम परासिया झिरी थाना तिलवारा
2-शंकरलाल बरकडे पिता बक्तूलाल बरकड़े उम्र 48 वर्ष निवासी ग्राम परासिया झिरी थाना तिलवारा
3-शिवकुमार उर्फ भूरा मर्रापा (गौड़ ) पिता हिम्मत लाल उम्र 34 वर्ष निवासी ग्राम परासिया झिरी थाना तिलवारा
4-अखिलेश उर्फ फागूलाल नरेती पिता बलीराम नरेती उम्र 26 वर्ष निवासी ग्राम परासिया झिरी थाना तिलवारा
5-जगराम सोयाम पिता मद्दूलाल सोयाम उम्र 26 वर्ष निवासी ग्राम परासिया झिरी थाना तिलवारा

                    घटित हुई घटना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया, सूचना पर नगर पुलिस अधीक्षक बरगी सुश्री प्रियंका शुक्ला (भा.पु.से.) एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री शिवेश सिंह बघेल तथा पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) मौके पर पहुंचे।

              वरिष्ठ अधिकारियों एवं एफ.एस.एल. डॉक्टर सुनीता तिवारी  एवं डॉग स्क्वाड की उपस्थति में घटना स्थल का बारीकी से निरक्षण करते हुये पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये  अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302,201 भादवि  का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।

                *पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)* द्वारा अज्ञात आरोपी की पतासाजी के सम्बंध में  आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये आरोपी की शीघ्र पतासाजी कर गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री शिवेश सिंह बघेल एवं नगर पुलिस अधीक्षक बरगी सुश्री प्रियंका शुक्ला (भा.पु.से.) के मार्गदर्शन में थाना तिलवारा की  टीम गठित कर लगायी गयी।

               दौरान तलाश पतासाजी के दिनॉक 30-11-21 को शाम लगभग 4 बजे ग्राम नया गॉव स्थित नंदबाबा गौशाला के  पास नाले किनारे  बनी मरघटाई में गया प्रसाद कुसराम की मुण्डी मिट्टी मे दबी हुई मिली, मिट्टी के उपर एक पत्थर रखा हुआ था पास ही एक बकानुमा जराही का टूटा हुआ लकड़ी का बेंत जो लगभग सवा फुट का था, जिसमे तांबे का तार लिपटा हुआ था मिला था।

                  टीम को दौरान पतासाजी के ज्ञात हुआ कि मृतक गया प्रसाद चोरी छिपे जादू टोना करता है, किसी व्यक्ति ने जादू टोना के शक में तो गया प्रसाद की हत्या नहीं कर दी है को ध्यान मे रखते हुये आसपास के गॉव में पतासाजी की जा रही थी एवं घटना स्थल के पास मिले टूटे हुये बेंत के सम्बंध मे पूछताछ की जा रही थी।

                दौरान तलाश पतासाजी के दिनॉक 19-2-22 को विश्वसनीय मुखबिर से जानकारी मिली कि टूटा हुआ बेंत ग्राम परासिया झिरी निवासी विजय कुमार बरकड़े की बकानुमा जराही का है। यह जानकारी लगते ही विजय कुमार बरकडे उम्र 24 वर्ष निवासी परासिया झिरी थाना तिलवारा को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा मे लेते हुये सघन पूछताछ की गयी तो विजय बरकडे ने अपने पिता एवं अपने साथियों के साथ मिलकर जादू टोना के शक में गया प्रसाद की हत्या करना स्वीकार करते हुये बताया कि वह गॉव के शिवकुमार मर्रापा , फागू लाल उर्फ अखिलेश नरेती के साथ मार्बल पाउडर फैक्ट्री में काम करता था, उसने गॉव के शिवकुमार एवं फागूलाल से बताया कि उसकी मॉ एवं बहन बीमार रहती हैं, जिनका देशी ईलाज एवं झाड़ फूंक कराते है तो कुछ दिन ठीक रहती है, फिर तबीयत खराब हो जाती है। जानकारी लगी है कि गॉव का गया प्रसाद चोरी छिपे जादू टोना कर लोगों को परेशान करता है, तो शिवकुमार एवं फागूलाल ने कहा कि हमारे घर में भी बीमार रहते हैं, गॉव के और लोग भी परेशान है, गया प्रसाद चोरी छिपे जादू टोना कर गॉव के लोगों को परेशान कर रहा है।  उसने दोनों से कहा कि मडई मेला के दिन मडई समाप्त होने के बाद गया प्रसाद की हत्या कर देते है तो दोनो तैयार हो गये,  हम तीनों गॉव के रिश्ते के भतीजे जगराम सोयाम  से बात की तो जगराम भी तैयार हो गया, जगराम अपने घर से लोहे की सब्बल, तथा वह एवं शिवकुमार-फागूलाल अपने अपने घरों से जराहीनुमा बका लेकर आये, वह सभी के साथ  अपने पिता शंकर लाल के पास खेत पहु्रंचा एवं पिता से बोला कि हमारे साथ चलो तो पिता कुदाली लेकर साथ में चल दिये और गया प्रसाद खेत मे बनी टपरिया में जहॉ सोया हुआ था पहुचे  पिता शंकर लाल टपरिया के सामने खडे हो गये वह एवं शिव कुमार , फागूलाल , जगराम टपरिया से गया प्रसाद को घसीट कर बाहर लाये,  सभी ने हाथ में लिये हुये धारदार हथियार बका, सब्बल, राड से गया प्रसाद पर हमला कर दिये, गया प्रसाद गिर गया मारपीट करते समय उसके बके की बांस की बेंट टूट कर वहीं गिर गयी, गया प्रसाद की हत्या करने के  उसने बका से गर्दन के पास गया प्रसाद की मुण्डी काट दी एवं कटी हुई मुण्डी बाल से पकडकर उठा ली तथा गया प्रसाद का तावीज जो गला कटने के बाद नीचे गिर गया था उठाकर अपने पास रख लिया, तथा गया प्रसाद का पर्स जिसमें 430 रूपये एवं अधारकार्ड था शिवकुमार ने रख लिया। सभी कटी हुई मुण्डी लेकर नाले के किनारे मरघटाई पहुंचे जहॉ उसके पिता ने कुदाली से गड्ढा खोदा और मुण्डी को गड्ढे मे रखकर मिट्टी से दबा दिया एवं  उसके उपर पत्थर रखकर अपने अपने घर चले गये तथा सभी ने अपने पहने हुये कपडे घर के आसपास बाड़ी मे छिपा दिये।
ग्राम परासिया झिरी निवासी शिवकुमार उर्फ भूरा मर्रापा (गौड़) , फागूलाल उर्फ अखिलेश नरेती, जगराम सोयाम, शंकरलाल बरकडे को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्ष में लेते हुये पूछताछ की गयी तो सभी ने जादू टोना के शक मे बका रॉड से हमला कर हत्या करना स्वीकार किया, पकडे गये आरोपियो की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त 3 जराहीनुमा बका, 1 सब्बलनुमा रॉड, 1 कुल्हाडी एवं घटना के वक्त पहने हुये कपडे तथा गया प्रसाद का पर्स एवं आधारकार्ड जप्त करते हुये पॉचों आरोपियों को प्रकरण में विधिवत गिरफ्तार कर मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

*उल्लेखनीय भूमिका –* पतासाजी कर अंधी हत्या का खुलासा एवं आरोपियों की गिरफ्तारी में  नगर पुलिस अधीक्षक बरगी सुश्री प्रियंका शुक्ला (भा.पु.से.) , उप पुलिस अधीक्षक अ.जा.क. श्री पंकज मिश्रा के नेतृत्व में थाना प्रभारी तिलवारा उप निरीक्षक  लेखराम नादौनिया, थाना प्रभारी चरगवॉ श्री विनोद पाठक थाना तिलवारा के उप निरीक्षक विनोद कुमार द्विवेदी, उप निरीक्षक अभिषेक कैथवास, प्रधान आरक्षक दिलीप पाठक, आरक्षक हरीश डेहरिया, हरी सिंह राजपूत, जय कुमार एवं थाना चरगवॉ के आरक्षक सोनू कुमार, राहुल नादौनिया की सराहनीय भूमिका रही।



अपने क्षेत्र के व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप एवं फेसबुक ग्रुप से जुड़ने, के लिए यहां क्लिक करें

   लाइक फ़ेसबुक पेज     

   यूट्यूब चैनल लाइक एवं सब्सक्राइब   

कृपया ज्‍यादा से ज्‍यादा शेयर करें। तथा कमेंट में अपने विचार प्रस्‍तुत करें।

सबसे पहले न्‍यूज पाने के लिए नीचे लाल बटन पर क्लिक करके सब्‍सक्राइब करें।

अगर दुनिया से पहले चीजों को जानने का जुनून है, खबरों के पीछे की खबर जानने का चस्का है, आपकी कलम में है वो ताकत, जो केवल सच लिखे, जिसे पढ़ने के लिए लोग बेताब हो।

तो आइये हमारे साथ और अपनी कलम की सच्‍चाई को सबके सामने रखने का मौका आज ही रजिस्‍टर करें हमारे साथ या फिर बिना रजिस्‍टर के भी अपने विचार सबके सामने रख सकते हैं। आपके विचारों को सबके सामने लाने का जिम्‍मा हमारा।

अभी रजिस्‍टर करें

अपने विचार रखें

हाल की खबरें


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!