May 22, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

गेहूं उपार्जन के लिये 5 फरवरी से 5 मार्च तक होगा किसान पंजीयन।

गेहूं उपार्जन के लिये 5 फरवरी से 5 मार्च तक होगा किसान पंजीयन।*पंजीयन एवं उपार्जन प्रक्रिया में किसानों की सुविधा के दृष्टिगत किये गये बदलाव।
मित्रों के साथ शेयर करें

कटनी। मनोज कुमार लोधी,

कटनी:–जिला आपूर्ति अधिकारी ने बताया कि रबी विपणन वर्ष 2022-23 के लिये गेहूं उपार्जन के लिये किसान पंजीयन कार्य 5 फरवरी 2022 से 5 मार्च 2022 तक प्रातः 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक समस्त कार्य दिवसों में रविवार एवं शासकीय अवकाश को छोड़कर किया जायेगा। किसानों की सुविधा के लिये पंजीयन एवं उपार्जन प्रक्रिया में महत्वपूर्ण बदलाव करने का निर्णय लिया गया है। जिससे किसानों को पंजीयन केन्द्रों में लाईन लगाकर पंजीयन कराने में हो रही परेशानी से बचा जा सकता है। उपार्जन के लिये किसान निर्धारित स्थानों पर अपना पंजीयन करा सकते हैं।
कृषक स्वयं के मोबाईल अथवा कम्प्यूटर से पंजीयन के लिये निर्धारित लिंक पर जा कर अपना पंजीयन कर सकेंगे। इसके साथ ही ग्राम पंचायत कार्यालय में स्थापित सुविधा केन्द्र, जनपद पंचायत कार्यालयों में स्थापित सुविधा केन्द्र, तहसील कार्यालय में स्थापित सुविधा केन्द्र, पूर्व वर्षों की भांति सहकारी समिति एसएचजी, एफपीओ, एफपीसी द्वारा संचालित पंजीयन केन्द्रों पर भी निःशुल्क पंजीयन कराया जा सकता है। इसके अतिरिक्त पंजीयन की सशुल्क व्यवस्था जिस पर 50 रुपये की राशि देय होगी, किसान अपना पंजीयन करा सकते हैं। इनमें एमपी ऑनलाईन कियोस्क, कॉमन सर्विस सेन्टर कियोस्क, लोक सेवा केन्द्र तथा निजी व्यक्तियों द्वारा संचालित साईबर कैफे पर भी पंजीयन कराया जा सकता है।
उपार्जन के लिये कृषक को भूमि संबंधित दस्तावेज, आधार कार्ड एवं अन्य फोटो पहचान पत्र उपलब्ध कराना होगा। सिकमी बटाईदार एवं वन पट्टाधारी किसान के पंजीयन की सुविधा केवल सहकारी समिति एसएचजी, एफपीओ, एफपीसी स्तर पर स्थापित पंजीयन केन्द्रों पर ही उपलब्ध रहेगी।


पंजीयन कराने एवं फसल बेचने के लिये आधार नंबर वेरीफिकेशन अनिवार्य होगा। वेरीफिकेशन आधार नंबर से लिंक मोबाईल नंबर पर प्राप्त ओटीपी से या बायोमेट्रिक डिवाईस से किया जा सकेगा।
किसान का पंजीयन केवल उसी स्थिति में हो सकेगा, जबकि भू-अभिलेख में दर्ज खाते एवं खसरे में दर्ज नाम का मिलान आधार कार्ड में दर्ज नाम से होगा। भू-अभिलेख एवं आधार कार्ड में दर्ज नाम में विसंगति होने पर पंजीयन का सत्यापन तहसील कार्यालय से ही किया जा सकेगा। सत्यापन होने के उपरांत ही पंजीयन मान्य होगा। नवीन पंजीयन व्यवस्था में यह आवश्यक होगा कि सान अपने आधार नंबर से बैंक खाता और मोबाईल नंबर को लिंक कराकर अपडेट रखें। जिले के कृषकों से अनुरोध किया गया है कि वे अपने निकटतम आधार केन्द्र में अपने आधारकार्ड में मोबाईल नंबर एवं बायोमेट्रिक अपडेट करवा लें, अन्यथा की स्थिति में फसल विक्रय में असुविधा का सामना करना पड़ेगा।



अपने क्षेत्र के व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप एवं फेसबुक ग्रुप से जुड़ने, के लिए यहां क्लिक करें

   लाइक फ़ेसबुक पेज     

   यूट्यूब चैनल लाइक एवं सब्सक्राइब   

कृपया ज्‍यादा से ज्‍यादा शेयर करें। तथा कमेंट में अपने विचार प्रस्‍तुत करें।

सबसे पहले न्‍यूज पाने के लिए नीचे लाल बटन पर क्लिक करके सब्‍सक्राइब करें।

अगर दुनिया से पहले चीजों को जानने का जुनून है, खबरों के पीछे की खबर जानने का चस्का है, आपकी कलम में है वो ताकत, जो केवल सच लिखे, जिसे पढ़ने के लिए लोग बेताब हो।

तो आइये हमारे साथ और अपनी कलम की सच्‍चाई को सबके सामने रखने का मौका आज ही रजिस्‍टर करें हमारे साथ या फिर बिना रजिस्‍टर के भी अपने विचार सबके सामने रख सकते हैं। आपके विचारों को सबके सामने लाने का जिम्‍मा हमारा।

अभी रजिस्‍टर करें

अपने विचार रखें

हाल की खबरें


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!