July 18, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

पंच से जिला पंचायत सदस्य तक एक ही नाम निर्देशन पत्र प्रारूप की रहेगी व्यवस्था ।

मित्रों के साथ शेयर करें

◾अभ्यर्थी को प्रस्तुत करना पड़ेगा ग्राम पंचायत व बिजली विभाग का अदेय प्रमाण पत्र, स्थानीय निर्वाचन को लेकर स्टेंडिंग कमेटी की बैठक का हुआ आयोजन।

कटनी, ब्यूरो चीफ मोहित वर्मा,

➡स्थानीय निर्वाचन की आदर्श आचार संहिता और निर्वाचन प्रक्रिया की जानकारी देने को लेकर सोमवार को स्टेंडिंग कमेटी की बैठक का आयोजन कलेक्ट्रेट में किया गया। बैठक में अधिकारियों, विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों को जिले में प्रभावी आचार संहिता और स्थानीय निर्वाचन को लेकर निर्वाचन आयोग के जारी दिशा निर्देशों से अवगत कराया गया। जिला पंचायत सीईओ जगदीश चंद्र गोमे, अपर कलेक्टर रोमानुस टोप्पो, संयुक्त कलेक्टर साधना परस्ते की मौजूदगी में मास्टर ट्रेनर मुकेश द्विवेदी ने आचार संहिता और निर्वाचन संबंधी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिले में तीन चरणों में त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव होने हैं। जिनमें पहले चरण में बहोरीबंद व रीठी जनपद पंचायत, द्वितीय चरण में कटनी व बड़वारा और तृतीय चरण में विजयराघवगढ़ व ढीमरखेड़ा जनपद पंचायत में चुनाव होंगे। मास्टर ट्रेनर द्विवेदी ने बताया कि इस बार पंच, सरपंच, जनपद सदस्य व जिला पंचायत सदस्य के निर्वाचन के दौरान एक ही नाम निर्देशन पत्र में व्यवस्था की गई है। इसके अलावा जनपद सदस्य व जिला पंचायत सदस्य के फार्म अभ्यर्थी ऑनलाइन भी भर सकेंगे। पंच व सरपंच का मतदान मतपत्र से और जनपद सदस्य व जिला पंचायत सदस्य का मतदान ईवीएम के जरिए होगा।

उन्होंने जिले में प्रभावी आदर्श आचार संहिता के दौरान अभ्यर्थी, राजनैतिक पार्टियों, अधिकारी, कर्मचारियों के लिए लागू निर्देशों के संबंध भी जानकारी दी। द्विवेदी ने बताया कि निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार सभी अभ्यर्थियों को नाम निर्देशन के साथ ही ग्राम पंचायत व बिजली विभाग का अदेयता प्रमाण पत्र भी प्रस्तुत करना होगा। इसके अलावा पंच पद के प्रत्याशियों को घोषणा पत्र व सरपंच, जनपद सदस्य व जिला पंचायत सदस्य के अभ्यर्थियों को शपथ पत्र देना अनिवार्य किया गया है। स्थानीय निर्वाचन में नाम निर्देशन जमा करने, नाम निर्देशन की जांच, नाम वापिसी, मतदान और मतगणना के साथ ही निर्वाचन की घोषणा संबंधी जानकारी भी बैठक में दी गई। मास्टर ट्रेनर ने बताया कि पंच व सरपंच के मतों की गणना मतदान के बाद मतदान स्थल पर ही होगी जबकि जनपद व जिला पंचायत सदस्य के मतों की गणना ब्लाक स्तर पर होगी।

बैठक में संवेदनशील व अति संवेदनशील मतदान केन्द्रों के संबंध में भी जानकारी दी। साथ ही बताया गया कि स्थानीय निर्वाचन के दौरान 24 घंटे कंट्रोल रूम काम करेंगे और किसी भी प्रकार की समस्या के लिए अभ्यर्थी, अधिकारी या राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि कंट्रोल रूम से संपर्क कर सकेंगे। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनोज केडिया ने बताया कि संवेदनशील व अति संवेदनशील मतदान केन्द्रों की व्यवस्थाओं को लेकर पुलिस पार्टी भ्रमण करेगी और यदि किसी और केन्द्र के संवेदनशील होने की जानकारी लगती है तो वहां पर भी पर्याप्त पुलिस बल उपलब्ध कराते हुए शांतिपूर्ण ढंग से निर्वाचन संपन्न कराया जाएगा। इस दौरान सभी आरओ, एआरओ, राजनैतिक दलों के सदस्य मौजूद थे।

Chief Electoral Officer Madhya Pradesh


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!