July 18, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

अंततः प्रारंभ हुई है अतरिया बांध परियोजना परियोजना

बांध परियोजना का लाभ ग्राम अतरिया सहित मझौली कला,डोगरगवा ,जलधारा एवम आकाश पानी के सैकड़ो किसानों को मिलना है,परियोजना के प्रारम्भ से ही गांव के कुछ चिन्हित लोग विरोध करते रहे जिस वजह से कार्य प्रारंभ में अड़चनें आती रही है।
मित्रों के साथ शेयर करें

💥 *अंततः प्रारम्भ हुई अतरिया बांध परियोजना*

💥 *कलेक्टर के सार्थक पहल का नतीजा

उमारिया। विवेक तिवारी

जलसंसाधन विभाग ने सुबह से ही ग्राम अतरिया में कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव के निर्देशन में बांध परियोजना का कार्य प्रारंभ कर दिया है,पूरे दिन मशीन आदि की मदद से कार्य प्रारंभ रहा है।

विदित हो कि उक्त बांध परियोजना का लाभ ग्राम अतरिया सहित मझौली कला,डोगरगवा ,जलधारा एवम आकाश पानी के सैकड़ो किसानों को मिलना है,परियोजना के प्रारम्भ से ही गांव के कुछ चिन्हित लोग विरोध करते रहे जिस वजह से कार्य प्रारंभ में अड़चनें आती रही है।

बुधवार की सुबह भारी लाव लश्कर के साथ जब जिला प्रशासन ग्राम अतरिया पहुंचा और परियोजना कार्य को गति देने का प्रयास किया तो विरोधी एक्टिव हुए,परन्तु बाद में प्रशासनिक समझाइश के बाद मामला शांत हो गया,हालांकि कुछ किसान फिर भी नाराज़गी व्यक्त करते रहे,जिसके बाद उन पर ज़रूरी कार्यवाही की गई है।

कोतवाली थाना प्रभारी सुंदरेश सिंह मरावी ने बताया कि 8 किसानों के विरुद्ध धारा 151 का प्रकरण कायम किया गया है।* हालांकि इस पूरे मामले में विरोध की कोई मुख्य वजह साफ नही दिखती,बल्कि अतरिया बांध परियोजना से सिंचाई के बेहतर संसाधन उपलब्ध होंगे,वही मत्स्य पालन का भी व्यवसाय तेजी से बढ़ेगा। खास तौर से ग्राम अतरिया के किसानों को इसका अधिकाधिक रूप से सीधा लाभ मिलेगा।

अतरिया बांध परियोजना में करींब 61 प्रभावित किसान है, इन किसानों में करींब 45 किसानों ने मुआवजे की राशि भी ले ली है,बाकी 11 किसानो के मुआवजे की राशि अलग अलग कारणों से किसानों को नही मिल सकी है। इन 11 किसानों में 4 से 5 यानी 50 फीसदी ऐसे किसान है,जिन्होंने परियोजना के लिए अधिग्रहित भूमि सौंपने की सहमति भी दे दी है, विभागीय सूत्रों की माने तो शेष ऐसे किसानों के खाते में जल्द ही मुआवजे की राशि पहुंच जायेगी।

विदित हो कि तीन वर्ष पूर्व वर्ष 2018 के अगस्त माह में अवार्ड पारित हो चुका है। इस परियोजना को लेकर शासन ने करींब 61 किसानों से 62.60 हेक्टेयर भूमि को अधिग्रहित किया है, इसके विरुद्ध करींब 294.84 लाख का अवार्ड भी पारित हो चुका है, इसमे सबसे अधिक करींब 234.84 लाख सिर्फ ग्राम अतरिया के आदिवासी किसानों के नाम अवार्ड पारित हुआ है। जिनमे ग्राम अतरिया के किसानों ने मुआवजे के रूप में 170 लाख रुपये खाते के माध्यम से ले भी लिया है,महज 70 लाख ही मुआवजे की राशि किसानों को देना शेष है, जो फ़ौत होने या बैंक खाते की त्रुटि के चलते शेष है, विभागीय सूत्रों की माने तो जल्द ही सम्बंधित शेष प्रभावित किसानों को मुआवजे की राशि दे दी जायेगी।

इस मामले में कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने कहा कि कतिपय लोगो द्वारा परियोजना का विरोध किया जा रहा था, पुलिस की मदद से किसानों की लाभकारी परियोजना को प्रारम्भ किया गया है।



अपने क्षेत्र के व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप एवं फेसबुक ग्रुप से जुड़ने, के लिए यहां क्लिक करें

   लाइक फ़ेसबुक पेज     

   यूट्यूब चैनल लाइक एवं सब्सक्राइब   

मोबाइल एप्प डाऊनलोड   

कृपया ज्‍यादा से ज्‍यादा शेयर करें। तथा कमेंट में अपने विचार प्रस्‍तुत करें।

सबसे पहले न्‍यूज पाने के लिए नीचे लाल बटन पर क्लिक करके सब्‍सक्राइब करें।

अगर दुनिया से पहले चीजों को जानने का जुनून है, खबरों के पीछे की खबर जानने का चस्का है, आपकी कलम में है वो ताकत, जो केवल सच लिखे, जिसे पढ़ने के लिए लोग बेताब हो।

तो आइये हमारे साथ और अपनी कलम की सच्‍चाई को सबके सामने रखने का मौका आज ही रजिस्‍टर करें हमारे साथ या फिर बिना रजिस्‍टर के भी अपने विचार सबके सामने रख सकते हैं। आपके विचारों को सबके सामने लाने का जिम्‍मा हमारा।

अभी रजिस्‍टर करें

अपने विचार रखें

हाल की खबरें

 


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!