June 17, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण 2021 का हुआ शुभारम्भ।

मित्रों के साथ शेयर करें

◾सीईओ जिला पंचायत श्री गोमे ने संबंधित अधिकारियों को प्रशिक्षण में दी जानकारी

कटनी,ब्यूरो चीफ मोहित वर्मा,

➡मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कटनी जगदीश चंद्र गोमे के द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण 2021 का शुभारंभ सोमवार को किया गया। भारत सरकार एवं राज्य सरकार के स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण के संबंध में विस्तृत प्रशिक्षण प्रदाय किया गया, जिसमें जनपद स्तर से मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत सर्व, सहायक यंत्री, विकासखंड समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन, विकासखंड स्त्रोत समन्वयक जनपद शिक्षा केंद्र कटनी व उपयंत्री शामिल रहे।

उल्लेखनीय है कि एसएसजी देश भर में ओडीएफ के साथ मध्यस्थ के तौर पर जुड़कर परिणामों की गति बढ़ाने का काम करेगा। एसएसजी, 2021 के तहत देश भर के 698 जिलों के 17,475 गांवों को कवर किया जाएगा। स्वच्छ भारत मिशन चरण-2 के तहत स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण, स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण का उद्देश्य देश में ओडीएफ के साथ मध्यस्थ के तौर पर जुड़कर परिणामों की गति बढ़ाने का समर्थन करना है। सर्वेक्षण 2021 के संचालन के लिए एक विशेषज्ञ एजेंसी को काम पर रखा गया है। सर्वेक्षण के हिस्से के रूप में, गांवों, जिलों और राज्यों को प्रमुख मापदंडों का उपयोग करके रैंकिंग किया जाएगा।

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण के हिस्से के रूप में, देश भर के 698 जिलों के 17,475 गांवों को कवर किया जाएगा। सर्वेक्षण के लिए इन गांवों के 87,250 सार्वजनिक स्थानों जैसे स्कूलों, आंगनबाडि़यों, सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों, हाट, बाजारों, धार्मिक स्थलों का दौरा किया जाएगा। एसबीएम से संबंधित मुद्दों पर प्रतिक्रिया के लिए लगभग 1,74,750 परिवारों का मत लिया जाएगा। साथ ही, नागरिकों को इस उद्देश्य के लिए विकसित एक एप्लिकेशन का उपयोग करके स्वच्छता संबंधी मुद्दों पर ऑनलाइन फीडबैक देने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

गौरतलब है कि एसएसजी सिर्फ एक रैंकिंग एक्सरसाइज नहीं है बल्कि जनांदोलन बनाने के लिए एक वाहक है। प्रमुख गुणवत्ता और मात्रात्मक मापदंडों पर उनके प्रदर्शन के आधार पर जिलों की रैंकिंग का मार्गदर्शन करने के लिए एक विस्तृत प्रोटोकॉल विकसित किया गया है। इस सर्वेक्षण में सार्वजनिक स्थानों पर स्वच्छता का प्रत्यक्ष निरीक्षण-35 प्रतिशत नागरिकों की प्रतिक्रिया, जिसमें आम नागरिकों, ग्राम स्तर पर प्रमुख प्रभावकों और मोबाइल ऐप का उपयोग करने वाले नागरिकों से 35 प्रतिशत ऑनलाइन प्रतिक्रिया शामिल है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जगदीश चंद्र गोमे के द्वारा उपस्थित सभी को इस स्वच्छता सर्वेक्षण में एक रणनीति तैयार करते हुए जिले में इसे जन आंदोलन बनाने निर्देश दिए गए हैं।

Panchayat, Rural Development and Social Welfare Department of Madhya Pradesh


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!