June 17, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

हरि अनंत हरि कथा अनंतामामला नरेंद्र भैया का

मित्रों के साथ शेयर करें


सतना – हरि अनंत हरि कथा अनंता – अर्थात प्रभु की कथा एवंम उनका कोई अंत नहीं है , लेकिन इंसान के साथ ऐसा नहीं है उसका अंत होता ही है । जुगल क्का की राजनैतिक विरासत की हत्या की साजिश कर्ता नरेंद्र भैया भी हमेशा जिला अध्यक्ष नहीं रहेंगे । जनता तो उनके पास आज भी नहीं आती लेकिन कल वे अवसरवादी माफिया भी उनके पास नहीं आएंगे जो आज उनके इर्दगिर्द मंडराते ही नहीं बल्कि नेता बने हुए हैं । जिस बागरी परिवार के खिलाफ उन्होंने साजिश रची उसके पित्तृ पुरुष दिवगंत जुगल कक्का की सहमति भी उन्हें जिलाध्यक्ष बनाने में रही होगी । आज कक्का के समर्थक अगर नरेंद्र भैया को गद्दार नमक हराम कर रहे हैं तो इसमे नैतिक रूप से गलत क्या है । जहां तक नैतिकता की बात है तो यदि नरेंद्र भैया है जो सांसद अनुज उमेश “लाल” के दो जगह नाम होने पर खूब हवा दी थी आज ठीक वही स्थिति प्रत्याशी प्रतिभा बागरी की है कि जिसके साथ में खड़े है । यह उनका दोहरा चरित्र है नहीं तो और क्या है कितनी आश्चर्य की बात है कि शहर व ग्रामीण दोनों जगह से जन अदालत में ठुकराए गई प्रतिभा आज अचानक जनाधार वाली हो गई । वहीं सांसद के खिलाफ हमेशा जहर उगलने वाले नरेंद्र भैया रैगांव उपचुनाव में उनके रट्ट तोता बन गए । दरअसल वे चाहते हैं कि प्रतिभा चुनाव हार जाए और समूचा ठीकरा सांसद के सर फोड़ दिया जाए । आज हालत यह है कि भाजपाइयों से बात करो तो वह कहते हैं कि हमारा फोन और हम निगरानी में है मतलब कार्यकर्ताओं पर ही भाजपा को संदेश है । जबकि आज आवश्यकता “नरेंद्र भैया” की निगरानी कि है । जो भाजपा के खिलाफ कुटिल चाल चल कर संसद व विधानसभा पहुंचने का ख्वाब देख रहे हैं ।
नरेंद्र भैया के रत्न
*हमारे घूमते आइने ने आपसे वादा किया था कि नरेंद्र भैया ने नवरत्न खोजने का जो काम सौंपा है उसे पूरा किया जाएगा , इस कड़ी में घूमता आइना चूंकि रामपुर बघेलान का निवासी है वही पहुंचा, नरेंद्र भैया ने नागेंद्र सिंह “करमऊ” का उदाहरण देकर एक साजिश को अंजाम तो दे दिया है लेकिन इनकी झूठी राजनैतिक बुनियाद पर घूमते आईने की नजर हर पल रहेगी । तुलसीदास ने लिखा है कि कलयुग में दोगलो की पौ बारह रहेगी । अब देखिए कभी अमरपाटन के खास दरबारी रहे विनीत आज नरेंद्र भैया के प्रातः स्मरणीय दरबारी हैं । इनका काम प्राकृतिक संसाधनों को दिन रात चोरी कर लूटना है । यूं तो जिले में कई बड़े नेता यही काम कर रहे हैं जिस पर घूमता आईना काम कर रहा है । फिलहाल नवरत्नों की बात हो रही है तो विनीत मैहर के पिपरहट मे बेखौफ अवैध उत्खनन कर मोदी व शिवराज की पोल खोल रहे । भाजपा में इनका अद्वितीय काम यह है कि कभी कमार यह उन्होंने भैया का बड़ा हो होल्डिंग सर्किट हाउस चौराहे पर लगा देते हैं और हर महीने बंद कमरे में आकर नरेंद्र भैया से आकर मिल लेते हैं । घूमते आईने ने पत्रकारों को पिपरहट में भाजपा का सुशासन देखने के लिए दावत दी है ।
*पत्रकारों से भेदभाव*
नरेंद्र भैया से अगर विज्ञापन प्राप्त करना है तो माथे पर तिलक होना जरूरी है । अन्यथा आपका विज्ञापन बिल डस्टबिन में जाएगा , रैंगाव उपचुनाव में भी यही भेदभाव चल रहा है, पत्रकारों को अब सांसद से उम्मीद है कि कम से कम वे यहां जातिवाद नहीं चलने देंगे, क्यों भाजपा नरेंद्र भैया कि नहीं सर्वहारा वर्ग की है ।


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!