March 1, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

हड़ताल के मौलिक अधिकार के अध्यादेश के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

मेडिकल रिप्रजेन्टेटिव यूनियन और सीटू जिला ट्रेड यूनियन द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया |
मित्रों के साथ शेयर करें

विंध्य सिटी न्यूज जिला ब्यूरो चीफ राशीश पयासी की रिपोर्ट सतना

आज 23 जुलाई को पुष्करणी पार्क सतना में सीटू ,इंटक,AITUCC ,एटक एवं अन्य श्रम संगठनों के बैनर तले सतना में सुरक्षा संस्थानों के निजीकरण एवं आगामी २६ जुलाई को सुरक्षा संस्थानों के कर्मचारिओं द्वारा की जाने वाली हड़ताल के खिलाफ केंद्र सरकार के द्वारा लाये गए अध्यादेश जिसमे हड़ताल को अवैध बताकर जेल एवं आर्थिक जुर्माने करने का कुत्सित प्रयाश किया जा रहा है जिसके खिलाफ पुष्करणी पार्क सतना में जोरदार प्रदर्शन किया गया।
आंदोलन की अगुवाई करते हुए सीटू जिला समिति के कन्वेनर वीरेन्द्र सिंह रावल ने कहा की देश के 41 सुरक्षा संस्थानों ( ऑर्डिनेंस फैक्टरियों )को भी निजीकरण की तरफ धकेला जा रहा ह। 80 हजार से ज्यादा सुरक्षा कर्मचारी देश के द्वारा ऑर्डिनेंस फैक्टरियों के निजीकरण के खिलाफ 26 जुलाई को राष्ट्रव्यापी हड़ताल करेंगे। केंद्र की सरकार को अल्टीमेटम दिया गया है कि हम अपने देश की राष्ट्रीय सम्पतियों को इस तरह बिकने नही देंगे।यह विरोध प्रदर्शन आज पूरे देश में १० केंद्रीय श्रम संगठनों के आव्हान पर सतना में भी आयोजित किया गया।
वर्तमान मोदी सरकार निजीकरण को लेकर कितने प्रतिबद्ध है कि जब देश के बैंक ,बीमा, रेल ,तेल,संचार बीएसएनएल ,हवाई जहाज ,हवाई अड्डे आदि में कार्यरत कर्मचारी अपने अपने संस्थानों का निजीकरण नही चाहने के बाबजूद उसे जबरिया बेचने की जिद पर अड़े हुए है।

आखिर आज 23 जुलाई को देश के सभी ट्रेड यूनियनों द्वारा क्यो विरोध दिवस मनाया जा रहा है-
वो इसलिए कि अभी तक हड़ताल करना देश के मौलिक अधिकारों में शामिल था, लेकिन सुरक्षा संस्थानों की हड़ताल को कुचलने के बहाने मोदी सरकार ने एक नया अध्यादेश ही लेकर आ गए है।

अब देश मे हड़ताल करना ही गैर कानूनी होगा बल्कि जो भी हड़ताल में शामिल होगा उसे जेलों में ठूंस दिया जाएगा और साथ ही साथ उसे आर्थिक जुर्माना भी देना होगा ।

-वही देश के ट्रेड यूनियनों से बेगैर सलाह मशविरा के 44 श्रम कानूनों को बदल दिया गया।

-वही देश के अन्नदाताओं से भी बेगैर बातचीत के आपने कृषि कानूनों को भी बदल दिया।

आज इस देश व्यापी विरोध प्रदर्शन में जिला ट्रेड यूनियन कौंसिल सतना के संरक्षक कॉमरेड हरि प्रकाश गोस्वामी ,ट्रेड यूनियन कौंसिल के अध्यछ कॉम टी पी पांडेय ,सीटू के कॉमरेड तेज प्रताप दुबे ,मनोज सिंह अनिल दिवेदी ,,गोविन्द सिंह ,इंटक के शंकर सिंह तिवारी मनोज पांडे,मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग कर्म संघ के कॉमरेड प्रमेन्द्र गौतम, एटक के कॉमरेड रामसरोज कुशवाहा, टीयूसीसी सतना के कॉमरेड अरुण सिंह,कॉमरेड सुनील सिंह,सतना डिवीजन इन्शुरन्स यूनियन कामरेड कामरेड धर्मेंद्र सिंह बघेल ,राजेश दिवेदी,मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ मेडिकल एन्ड सेल्स रिप्रेजेंटेटिव यूनियन के अर्जुन तिवारी परिवेश खरे ,आनंद पांडेय ,विक्रम सिंह, जीतेन्द्र मिश्रा ,प्रशांत केशरवानी ,पुष्पेंद्र श्रीवास्तव ,जीतेन्द्र पांडेय ,आनंद सिंह , राकेश सिंह ऋषभ तिवारी ,आदि समेत सैकड़ों सदस्य शामिल रहें।

वीरेंद्र सिंह रावल
श्री शंकर सिंह तिवारी
कामरेड रामसरोज कुशवाह
कामरेड अरुण सिंह


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!