March 1, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

समझने के लिए यादें ही काफी है

मित्रों के साथ शेयर करें

दिन भी आएगा रात जाने के बाद
रात फिर से आएगी दिन जाने के बाद |
जीलो अपनी जिंदगी सब याद आएंगे
सब गुजर जाने के बाद |
न वो आंख होंगी रास्ता दिखाने वाली
न वो होगा थकान मिटाने वाला|
होंगे बहोत उपदेश देने वाले पर होंगे नही
गलतियां सुधारने वाले|
वो झिड़कियां कहां से पाओगे वो ग्लनते कहा से पाओगे |
वो प्यार भरे हाथो से मां का खाना कहां से पाओगे |
याद रखना दोस्तों मां बाप फिर से नहीं पाओगे  |
ये ईश्वर से कहीं आंगे होते हैं दोनो ,बच्चों का वरदान होते हैं |
न भक्ति मां बाप की सही फिर भी मां बाप हमारे होते हैं |

कवि कुमार श्री अतुल तिवारी जी

सतना


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!