March 3, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

नास्तिक और आस्तिक की लड़ाई का मामला पहुंचा थाने, कार्यवाही की उम्मीद

मित्रों के साथ शेयर करें

आज तक हम इस बात का निर्णय नहीं कर पाए कि जब इंसान पैदा होता है तो वह नास्तिक होता है या आस्तिक?  मेरे विचार से इस दुनिया के तमाम इंसानों का बड़ा हिस्सा आज आस्तिक है। अर्थात किसी न किसी रुप में वह ईश्वर, अल्लाह या गोड में विश्वास करता है। उत्तर भारत का शायद ही कोई हिंदू हो जिसने मंदिर में खड़े होकर आरती न गाई हो – मैं मूरख खल कामी, कृपा करो भर्ता.

इंसानों का बड़ा हिस्सा विश्‍वास करता है एक ऐसी शक्ति में, जिस ने इस दुनिया को बनाया है और कहीं बैठा इस दुनिया का संचालन करता है। बहुत कम और इने-गिने लोग इस दुनिया में नास्तिक होंगे जो यह विश्वास नहीं करते। फिर भी कुछ आस्तिकों को इस बात का भय लगा रहता है कि कहीं ऐसा न हो कि लोग नास्तिक होते जाएँ और इस दुनिया में आस्तिक कम रह जाएँ। वे हमेशा कुछ न कुछ ऐसा अवश्य करते हैं जिस से वे ईश्वर के अस्तित्व को सिद्ध करते रहें।

दुनिया भर की किताबों की यदि श्रेणियाँ बनाई जाएँ तो शायद सब से अधिक पुस्तकें इसी श्रेणी की मिलेंगी जो किसी न किसी तरह से ईश्वर के अस्तित्व को बचाने में लगी रहती हैं। बहुत से संगठन तो ईश्वर का अस्तित्व सिद्ध करने के लिए मरने मारने को तैयार रहते हैं।

लेकिन आज के कलयुग में विश्‍वविद्यालय में छात्रों को शिक्षा देने वाले शिक्षक ही यदि नाश्तिक हो जायें तो आस्तिक होने का मजाक होने लग जायेगा ऐसा ही एक मामला आज फेसबुक पर देखने को मिला जिसको देखते ही आस्तिक व्‍यक्तिव के लोगों ने उन पर हमला बोल दिया। और ऐसा होना भी चाहिए

पूरा मामला यह है कि

IGNTU के प्रोफेसर राकेश सिंह के द्वारा इस प्रकार की टिप्पणी करना अशोभनीय है इनके जैसे व्यक्ति के कारण ही आज लोगो मे सनातन धर्म के प्रति द्वेष भावना ने जन्म लिया है आप नास्तिक हो या कोई भी हो आपको इस प्रकार किसी की भावनाओ को आहत करने की आज़ादी किसी ने नही दी है। एक तरफ विश्वविद्यालय में शोक की लहर है और इनके द्वारा इस प्रकार का कृत्य किया जा रहा है इनके प्रति उचित कार्यवाही की मांग करते हुये बजरंग दल ने थाने में शिकायत की है।

अपने क्षेत्र के व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप से जुड़ने,
फेसबुक पेज लाइक, एवं
मोबाईल एप्‍प डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें

कृपया हमारी सभी न्‍यूज को ज्‍यादा से ज्‍यादा शेयर करें। तथा कमेंट में अपने विचार प्रस्‍तुत करें।

सबसे पहले न्‍यूज पाने के लिए नीचे लाल बटन पर क्लिक करके सब्‍सक्राइब करें।


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!