March 3, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

चेक क्लियर की परेशानी खत्म, RBI का सभी बैंकों को CTS लागू करने का आदेश

मित्रों के साथ शेयर करें

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंकों से 30 सितंबर तक बाकी सभी ब्रांचेज में इमेज बेस्ड चेक ट्रंकेशन सिस्टम (सीटीएस) लागू करने को कहा है। इस कदम से चेकों का सेटलमेंट तेजी से हो सकेगा और कस्टमर सर्विस में सुधार होगा। अब भी 18,000 बैंक ब्रांचेज ऐसी हैं जो औपचारिक चेक क्लियरिंग सिस्टम से अलग हैं। चेक की इमेज पर आधारित ट्रंकेशन सिस्टम में चेकों को फिजिकल रूप से एक जगह से दूसरे जगह पर भेजने की जरूरत कम या खत्म हो जाती है।

रिजर्व बैंक ने पिछले महीने पूरे देश के स्तर पर सीटीएस को लागू करने की घोषणा की थी। इसके तहत सभी बैंक ब्राचेंज को इमेज आधरित सीटीएस व्यवस्था के तहत लाया जाएगा। सीटीएस का इस्तेमाल 2010 से हो रहा है। अभी 1,50,000 बैंक ब्रांचेज इसके तहत आती हैं। सभी पूर्ववर्ती 1,219 ईसीसीएस केंद्र सितंबर, 2020 से सीटीएस के तहत ट्रांसफर हो गए हैं। रिजर्व बैंक ने कहा कि यह देखने में आया है कि कई बैंक ब्रांचेज अब भी औपचारिक सीटीएस व्यवस्था से बाहर हैं। उनके ग्राहकों को इसकी वजह से काफी परेशानी होती है। उनका चेक निकलने में अधिक समय लगता है।

रिजर्व बैंक के सर्कुलर में कहा गया है कि सीटीएस की उपलब्धता के इस्तेमाल तथा सभी ग्राहकों को समान अनुभव प्रदान करने के लिए सीटीएस को देशभर में सभी बैंक शाखाओं में लागू करने का फैसला किया गया है। इसके तहत बैंकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि 30 सितंबर, 2021 तक उसकी शाखाएं इमेज आधारित सीटीएस प्रणाली के तहत आ जाएं। इसके लिए बैंक कोई भी मॉडल अपनाने को स्वतंत्र होंगे। बैंक इसके लिए प्रत्येक शाखा में उचित ढांचा लगा सकते हैं या फिर हब या स्पोक मॉडल का इस्तेमाल कर सकते हैं।


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!