March 3, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

Income Tax: 01 अप्रैल से बदल जाएंगे Income Tax और TDS से जुड़े ये नियम, आपके लिए जानना जरूरी है ….

मित्रों के साथ शेयर करें

Income Tax: सरकार ने बजट 2021 (Budget 2021) में आयकर (Income tax) से जुड़े कुछ नियमों में बदलाव करने की घोषणा की गई थी। जिसमें सैलरीड क्लास (Salaried Class) के लिए आईटीआर फाइल (ITR File) करने मे और भी आसान हो जाए, और बदले हुए नियम 01 अप्रैल 2021 से प्रभावी हो जाएंगे। सरकार ने बजट 2021 में मध्यम वर्ग और सैलरीड क्लास के लिए कोई राहत की घोषणा नहीं की थी। केवल वरिष्ठ नागरिकों (Senior Citizens) के लिए जो 75 साल की उम्र पार कर लिए हैं एवं उन्हें पेंशन मिलती है, उन्हें इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के दौरान राहत देने की घोषणा की गई थी। ज्यादा से ज्यादा लोग इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करें, इसके लिए सरकार ने बजट 2021 में काफी कड़ा प्रावधान किया है, साथ ही सैलरीड क्लास के लिए आईटीआर फाइलिंग के नियमों को आसान बनाया गया है, ताकि उन्हें आईटीआर फाइलिंग (During ITR Filing) के दौरान कोई असुविधा न हो।

ईपीएफ (EPF)

नए कर नियमों के मुताबिक, 1 अप्रैल 2021 से पीएफ पर मिलने वाला ब्याज अगर 2.5 लाख रुपये से ज्यादा है तो उस पर टैक्स देना पड़ेगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने टैक्स का प्रावधान इसलिए किया है ताकि जो ज्यादा सैलरी पाने वाले लोग हैं उन पर टैक्स बढ़ाया जा सके.

एलटीसी स्कीम (LTC Scheme)

बजट 2021 में केंद्र सरकार की तरफ से एलटीसी अधिसूचित किया गया है। यह स्कीम उन लोगों के लिए लाई गई है जो कोरोना लॉकडाउन (Corona Lockdown) के कारण कहीं एलटीसी टैक्स का लाभ नहीं ले पाये थे। चूंकि लॉकडाउन के दौरान कहीं जाने की अनुमति नहीं थी. इसलिए उन्हें एलटीसी का लाभ नहीं मिल पाया तो सरकार ने इसकी समयावधि को बढ़ा दिया।

सुपर सीनियर सिटिजन को आईटीआर फाइल करने का जरूरत नहीं

बजट 2021 के दौरान वित्त मंत्री की तरफ से इस बात की घोषणा की थी कि अत्यंत वरिष्ठ नागरिकों को आईटीआर फाइल करने की जरूरत नहीं है। जिनकी उम्र 75 साल के पार हो चुकी है। यह सुविधा ऐसे लोगों को दी गई जो पैंशन और फिक्स्ड डिपॉजिट पर मिलने वाले ब्याज पर आश्रित हैं।

आईटीआर नहीं फाइल करने पर कटेगा दोगुना टीडीएस बजट 2021 के दौरान सरकार ने आईटीआर नहीं फाइल करने वालों के लिए नियम काफी सख्त कर दिए हैं। सरकार ने इसके लिए सेक्शन 206 एबी का प्रावधान कर दिया है. इसके मुताबिक, अगर कोई शख्स आईटीआर नहीं फाइल करता है तो 1 अप्रैल 2021 से उससे दोगुना टीडीएस वसूला जाएगा। नए नियमों के मुताबिक, टीडीएस में बढ़ोतरी होगी. 1 अप्रैल 2021 से टीडीएस और टीसीएल के रेट 10-20 प्रतिशत होंगे। जो सामान्य तौर पर 5-10 प्रतिशत हैं। जो लोग आईटीआर नहीं फाइल करेंगे, सरकार उनसे दोगुने दर से टीडीएस की वसूली करेगी।

आईटीआर फाइल (ITR File) करने के लिए यहां क्लिक करें

   व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप-2 से जुडें     व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप;1 से जु़डें       फेसबुक पेज को फालो करें


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!