March 1, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

Paytm-Google Pay जैसे डिजिटल वॉलेट की सर्विस से हैं परेशान तो न लें टेंशन, अब RBI ने उठाया बड़ा कदम

मित्रों के साथ शेयर करें

अगर आप अपने बैंक और डिजिटल वॉलेट जैसे पेटीएम, गूगलपे और फोन पे की सर्विस से परेशान हैं तो अब टेंशन लेने की जरुरत नहीं है। क्योंकि RBI जल्द इसको लेकर नए नियम लाने जा रहा है।

Rbi Governor

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि बैंकों और डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्मो के खिलाफ उपभोक्ताओं की लगातार शिकायतों आती रहती है. इसीलिए भारतीय रिजर्व बैंक जून 2021 में बैंकों, NBFC और डिजिटल प्लेटफॉर्म के लिए एक एकीकृत लोकपाल योजना शुरू करने की घोषणा की है. इसका उद्देश्य शिकायतों को जल्दी निपटाना है। आपको बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) फिलहाल अपनी वेबसाइट पर शिकायत प्रबंधन प्रणाली (CMS) चलाता है। इस पोर्टल पर आप बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) सहित सभी वित्तीय सेवा देने वाली एजेंसी के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं। शिकायत दर्ज कराते वक्त आपको उस बैंक या व्यक्ति की पूरी डिटेल देनी होती है जिसके खिलाफ शिकायत कराने जा रहे हैं. इस डीटेल में नाम, पता, मोबाइल नंबर देना होता हैं। इस पूरे प्रोसेस के दौरान आपको ज्यादातर बार पहले से भरी हुई उन ड्रॉप-डाउन लिस्ट को देखना होगा और आपको जरूरी ऑप्शन चुनना है।

अब क्या होगा

RBI ने सभी डिजिटल लेनदेन प्लेटफॉर्म की शिकायत के समाधान के लिए एक 24×7 हेल्पलाइन स्थापित करने का भी प्रस्ताव रखा है।आरबीआई का कहना है कि ऐसा करने से इन प्लेटफॉर्म की सर्विस बेहतर होगी। साथ ही, ग्राहकों का भरोसा भी बढ़ेगा. यह हेल्पलाइन फाइनेंशियल और मानव संसाधन दोनों पर खर्च को भी कम करेगा।

आरबीआई का कहना है कि मौजूदा समय में भारत में तीन लोकपाल योजनाएं हैं 1. बैंकिंग लोकपाल योजना 2. गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों के लिए लोकपाल योजना 3. डिजिटल लेन-देन के लिए लोकपाल योजना। भारतीय रिजर्व बैंक के 20 से अधिक लोकपाल कार्यालय देश भर में ग्राहकों की शिकायत को निपटाने का काम करते हैं।

आरबीआई  गवर्नर ने बताया कि शिकायत  के लिए पहले सीएमएस पोर्टल है। लेकिन नए पोर्टल से ग्राहकों को सीधा फायदा होगा। बैंक, एनबीएफसी और गैर-बैंक के प्रीपेड पेमेंट इंस्ट्रूमेंट्स के ग्राहक जल्द ही एक केंद्रीकृत पोर्टल पर अपनी शिकायतें दर्ज कर सकेंगे।

अभी आप ऐसे कर सकते हो SBI में शिकायत दर्ज

SBI समेत सभी सरकारी और प्राइवेट बैंकों में ऑनलाइन, ऑफलाइन दोनों तरीकों से शिकायत दर्ज होती हैं। ऑफलाइन फॉर्म, SMS या कॉल के जरिए ऐसा किया जा सकता है। डेबिट कार्ड संबंधी परेशानियों को लेकर भी इन तरीकों के जरिए शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

आइए आपको बताते हैं SBI में शिकायत करने का पूरा प्रोसेस…

ऑनलाइन शिकायत करने का तरीका-SBI की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं.उसके बाद नीचे राईट साइड कस्टमर कम्प्लेंट फॉर्म (Customer Complaint Form) पर क्लिक करें। यहां क्लिक करने पर फॉर्म खुलेगा, फॉर्म में सभी डिटेल्‍स भरकर सबमिट करें। सबमिट करने के बाद आपकी शिकायत दर्ज हो जाएगी।  इसी फॉर्म में ऊपर स्टेटस चेक करने का ऑप्शन दिया है, जहां आप अपनी शिकायत का स्‍टेटस भी चेक कर सकते हैं।

SMS के जरिए भी कर सकते हैं शिकायत
यदि आप SMS के जरिए अपना शिकायत करना चाहते हैं इसके लिए भी बैंक आपको एसएमएस अनहैप्पी सर्विस (SMS “UNHAPPY”) देता है। इसके लिए आपको मैसेज में ‘UNHAPPY’ टाइप कर 8008202020 पर भेजना है।

आपके मैसेज भेजने के बाद बैंक के कर्मचारी आपको कॉल करेंगे और आपकी समस्या का समाधान करेंगे। आप चाहें तो फोन के जरिए भी अपनी शिकायज दर्ज करा सकते हैं. इसके लिए आपको टोल फ्री नंबर 1-800-425-3800/1-800-11-22-11 पर करना होगा.

ऑफलाइन भी कर सकते हैं शिकायत-एसबीआई अपने उन ग्राहकों के लिए भी शिकायत दर्ज कराने को मौका देता है जिनके पास मोबाइल या इंटरनेट का एक्सेस नहीं है। इसके लिए आप बैंक के अपने नजदीकी शाखा से फार्म कलेक्ट कर उसे भरकर जमा सकते हैं। आप अपनी शिकायत भरकर अपनी नजदीकी ब्रांच में जमा कर सकते हैं।


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!