July 18, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

SINGRAULI NEWS : पिछले वर्षों से एक ही जिले में जमे हैं, खनिज अधिकारी सिंगरौली में काट रहे हैं मलाई।

मित्रों के साथ शेयर करें

नहीं थम रहा रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन

कारण विगत कई वर्ष पूर्व स्थानांतरण होने के बाद भी राजनैतिक पकड़ के कारण पुनः सिंगरौली जिले में अपना स्थानांतरण करवा कर अरसे से एक ही जिले में अपनी सेवाएं दे रहे है।

सिंगरौली : मध्यप्रदेश शासन द्वारा शासकीय कर्मचारियों एवं अधिकारियों के लिए 2019-20 स्थानांतरण नीति बनाई गई ।नीति में यह साफ उल्लेख है कि एक अधिकारी को 3 वर्ष से ज्यादा किसी भी जिले में सेवा नहीं देना होगा। परंतु सिंगरौली जिले के शासन की स्थानांतरण नीति पर भारी पड़ रहे हैं खनिज अधिकारी कई वर्षों से सिंगरौली में काट रहे मलाई। प्राप्त जानकारी के अनुसार 1 जिले में 3 वर्ष से कार्यकाल पूर्ण होने के बाद दोबारा उस जिले में पोस्टिंग नहीं दिया जाता।

शासन की स्थानांतरण नीति पर सिंगरौली जिले के खनिज अधिकारी भारी पड़ रहे हैं। खनिज अधिकारी ए .के. राय के लिए मध्य प्रदेश के 52 जिलों में से एक सिंगरौली जिले के खनिज अधिकारी की कुर्सी से प्रेम है। जिसके कारण कई विगत वर्षों पूर्व स्थानांतरण होने के बाद की राजनीतिक पकड़ बनाए होने से पुनः सिंगरौली जिले में स्थानांतरण करवा कर लंबे अरसे से एक ही जिले में अपनी सेवा दे रहे हैं।

कहा जाता है कि खनिज अधिकारी ए के राय अपनी कार्यप्रणाली को लेकर हमेशा अखबारों की सुर्खियों में बने रहते हैं जिले में चल रहे अवैध खनन और परिवहन को लेकर कई बार खनिज अधिकारी के खिलाफ ज्ञापन सौंपा गया। लंबे समय से एक ही जिले में जमे रहने के कारण कई बड़े नेताओं से अच्छी पैठ बना चुके हैं जिसके कारण इनके खिलाफ आंदोलन धरना अखबारों में लिखना सब कुछ व्यर्थ नजर आता है जिस तरह से जिले में अवैध रेत उत्खनन और क्रेशर संचालकों की मनमानी चल रही है


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!