July 17, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

ठटरा के लीज में नियम-कानून की उड़ाई जा रही धज्जियां खनिज अधिकारी मौन्

मित्रों के साथ शेयर करें



विंध्य सिटी न्यूज़ ब्यूरो चीफ सिंगरौली:अमन सिंह

सूत्रों के मुताबिक मिली जानकारी चितरंगी ब्लाक अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत ठटरा में लीज सेआमजन या सरकार को कोई फायदा नहीं हो रहा है। जिले के बालू माफिया नोट छाप रहे हैं। सैकड़ों गाड़ियों में ओवरलोड बालू लाद कर यूपी पहुंचा दे रहे हैं। इस धंधे में बड़े-बड़े सफेदपोश भी शामिल है। वरना क्या मजाल की नदियों में पोकलेन मशीन लेकर घूमें ? और बेरोजगार दर-दर की ठोकरें खाएं। बालू माफिया पर काबू पाने के लिए भले ही सीएम शिवराज सिंह चौहान हजारों नियम बना दे लेकिन जिले में रेत का अवैध उत्खनन परिवहन वेदस्तूर जारी है. बालू खदान शुरू होते ही नदियों में पोकलेन मशीन उतार दी गई है. ऐसे में उन्हें इन रेत माफियाओं से निपटना एक कड़ी चुनौती बनकर सामने आ रही है. अब लोग तरह-तरह की चर्चा करते हैं सूत्र बताते है कि रेत के इस खेल में प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर जन प्रतिनिधियों की भी हाथ पूरी तरह से लिप्त है। आप कुछ भी कर ले कोई सुनने वाला नहीं है जिले में! ऐसे में जिले में आये नये कलेक्टर से ही जन मानस को एक आस बची हुई है की शायद नदियों का सीना छल्ली होने से बच सके ! जबकि विपक्ष इस समय भारत जोड़ो अभियान में व्यस्त दिखाई दे रहा है।
चल रहा लुका छिपी का खेल
यह पोकलेन बीच नदी पर बालू का ढेर इकट्ठा कर उसी पर खड़ा हो जाता है और फिर आसपास वाली जगहों पर इतनी रेत निकालते हैं कि वहां खाई बन जाती है. सूत्र बताते हैं कि रेत कारोबारी RKTC के गुर्गे और यहाँ के लोकल ठेकेदार का आदमी होने की चलते खनिज अमला पुतला बनकर रह गई है.

महंगे दामों पर मिलती है रेत

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सिंगरौली में खुले मंच से कहा था कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बन रहे आवासों में मुफ्त रेत मिलेगी और यहाँ के लोगो को सस्ते दामों में रेत मिलेगी। लेकिन जिले में मुफ्त की बात तो करना बेईमानी है. यहां हर आम आदमी को महंगे दामों पर ही रेत उपलब्ध हो पाती है. इसके पीछे तर्क दिया जाता है कि यहां ट्रकों में रेत भरकर यूपी के बॉर्डर पहुंचा दिया जाता है जहां इनकी मुंह मांगी कीमत मिलती है. यही वजह है कि यहां कुल लोगों को महंगे दामों पर रेत लेनी मजबूरी है.

नदी में पोकलेन मशीन

ठटरा लीज में चल रही है पोकलेन मशीन 1,2,3,4,5 और चितरंगी में बालू माफिया और पुलिस के बीच लुका छिपी का लगातार खेल जारी है। बालू माफिया दबंगई से दिन के उजाले में ही पोकलेन मशीन से रेत की निकासी कर रहे हैं इस खनन की जानकारी नेता पुलिस खनिज और राजस्व विभाग को बखूबी है लेकिन गुलाबी नोट हर महीने समय से मिलने के कारण सब ने आंख बंद कर ली है. ठटरा लीज और ज़िले की अन्य खदाने उसके आसपास का इलाका कई वर्षों से अवैध बालू खनन के लिए चर्चित रहा हैं.

अवैध
खबर एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करें

मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!