July 17, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

संविदा स्वास्थ्य कर्मी हड़ताल पर, स्वास्थ व्यवस्था बदहाल

मित्रों के साथ शेयर करें

मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के जननायक जनता के पुजारी कहे जाने वाले जिन्होंने जनता से एक प्रत्यक्ष रिश्ता जोड़ स्वयं मामा कहलाते हैं। आज उनके इस प्रदेश में संविदा कर्मी मजबूरी व खुदगर्जी की जिंदगी जीने को मजबूर है। उन्होंने स्वयं ही संविदा व्यवस्था को अन्याय पूर्ण माना है, परंतु आज संपूर्ण प्रदेश के संविदा स्वास्थ्य कर्मी हड़ताल पर हैं। मामा जी को जनता के पुजारी को इनकी आवाज अभी तक सुनाई नहीं दी।

क्या मामा जी ऐसी कोठरी में बैठते हैं जहां ग़रीबों मजलूमों और जरूरतमंदों की आवाज तक नहीं पहुंच पा रही है? या सलाहकार लोगों का पहरा है जहां सत्य की आवाज नहीं पहुंच पा रही?

पेंशन तो दूर की बात संविदा कर्मियों को उनके परिवार के पालन पोषण के लिए भी पैसे नहीं मिलते हैं परंतु संविदा कर्मी खुदगर्जी में मजबूरी में बेरोजगारी में अपनी जिंदगी गुजारने में मजबूर हैं, और रिटायरमेंट की कगार पर है, स्वास्थ्य व्यवस्था स्ट्रेचर पर है।

इस समय संविदा स्वास्थ्य कर्मी हड़ताल पर है अस्पताल की व्यवस्थाएं चरमरा गई है। अस्पतालों में सन्नाटा पसरा है। सबसे ज्यादा प्रभाव मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पर पड़ रहा है क्योंकि न तो इनकी देखभाल हो रही है और ना ही क्षेत्र में समुचित प्रसव हो रहे हैं। जो अस्पताल संविदा स्वास्थ्य कर्मी के हवाले हैं वहां मरीजों को रेफर किया जा रहा है अगर संपूर्ण संविदा स्वास्थ्य कर्मी हड़ताल पर चले गए तो स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह ठप हो जाएगी।

हड़ताली संविदा स्वास्थ्य कर्मियों की मांगें
हड़ताली संविदा स्वास्थ्य कर्मी की मांगे 5 जून 2018 को सरकार ने 90% वेतनमान नियमित कर्मचारियों के समान दिया जाए और और यह आदेश कहीं ना कहीं सत्य था। समान पद पर संविदा कर्मचारी का न्यूनतम वेतनमान है। संविदा एवं रेगुलर दोनों समान रूप से कार्य करते हैं तो वेतन का वितरण असमान क्यों?

बताया जा रहा है कई विभागों पर संविदा कर्मियों को 90 परसेंट वेतनमान दिया जा रहा है परंतु संविदा स्वास्थ्य कर्मियों को 90% वेतनमान नहीं दिया जा रहा है, एवं सरकार से नियमितीकरण का मुद्दा भी एक प्रमुख मांग है।



अपने क्षेत्र के व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप एवं फेसबुक ग्रुप से जुड़ने, के लिए यहां क्लिक करें

   लाइक फ़ेसबुक पेज     

   यूट्यूब चैनल लाइक एवं सब्सक्राइब   

   Follow on Twitter   

   टेलीग्राम पर ज्‍वाइन करें   

कृपया ज्‍यादा से ज्‍यादा शेयर करें। तथा कमेंट में अपने विचार प्रस्‍तुत करें।

सबसे पहले न्‍यूज पाने के लिए नीचे लाल बटन पर क्लिक करके सब्‍सक्राइब करें।

खबरें फटाफट

, ,

मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!