April 18, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

पिकनिक मनाने गये, नदी में डूबे 5 बच्चों के शव निकाले गए।

मित्रों के साथ शेयर करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टर को रेस्क्यू कार्य के दिए थे निर्देश,देर रात तक घटनास्थल पर मौजूद रहे कलेक्टर, एस.पी
विधायक मुड़वारा संदीप जायसवाल भी रहे मौजूद, परिजनों को दी सांत्वना

कटनी(18 अक्टूबर)- कटनी जिले के देवरा खुर्द गांव में कटनी नदी के गर्राघाट में सोमवार 17 अक्टूबर को पिकनिक मनाने गए 5 बच्चों के डूबने की प्राप्त सूचना के तत्काल बाद जिला प्रशासन द्वारा रेस्क्यू अभियान शुरु कर दिया गया था। सोमवार और मंगलवार की दरमियानी रात करीब 9.30 बजे से शुरु लगभग 12 घंण्टे तक चले रेस्क्यू कार्य के बाद सभी 5 बच्चों के शव निकाले जा चुके है। जिला प्रशासन को सोमवार की रात करीब 9 बजे बच्चों के डूबने की सूचना के बाद घटना स्थल के लिए तत्काल एसडीईआरएफ की टीम मौके पर रवाना की गई। इसके तत्काल बाद कलेक्टर प्रियंक मिश्रा स्वयं घटनास्थल पहुंचे और रेस्क्यू कार्य की निगरानी की। इस दौरान पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन भी मौजूद रहे।

मुड़वारा कटनी विधायक संदीप जायसवाल ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर रेस्क्यू कार्य और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। जबलपुर की एसडीईआरएफ टीम भी पहुंचकर रेस्क्यू कार्य में कटनी एसडीईआरएफ टीम के साथ सहभागी बनी।

इसके पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देवरा खुर्द में 5 मासूम बच्चों के नदी में डूबने के दुरूखद समाचार के बाद कटनी कलेक्टर प्रियंक मिश्रा को रेस्क्यू कार्य के निर्देश दिए थे। साथ ही ट्वीट के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बच्चों के परिवारजनों से धैर्य रखने का आग्रह करते हुए कहा था, कि बच्चों के खोजने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। मुख्यमंत्री ने बच्चों के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

श्री चौहान पूरे रेस्क्यू कार्य के दौरान कलेक्टर प्रियंक मिश्रा और जिला प्रशासन के संपर्क में रहकर रेस्क्यू कार्य की निगरानी की।

खजुराहो-कटनी सांसद बीडी शर्मा ने बच्चों के दुःखद मृत्यु कर शोक व्यक्त करते हुए शोकाकुल परिजनों को इस वज्रपात को सहन करने की शक्ति देने की ईश्वर से कामना की और दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करने की प्रार्थना की है।

कलेक्टर प्रियंक मिश्रा ने भी बच्चों के दुःखद निधन पर शोक व्यक्त किया है, और शोक संतप्त परिजनों को इस दुख को सहन करने की शक्ति देने ईश्वर से प्रार्थना की है। रेस्क्यू के बाद जिन बच्चों के शव निकाले गए हैं, उनमें साहिल चक्रवर्ती, अनुज सोनी, सूर्या विश्वकर्मा, महिपाल सिंह ठाकुर, और आयुष विश्वकर्मा शामिल है।

करीब 12 घंटे चले रेस्क्यू कार्य के दौरान कटनी एवं जबलपुर की एसडीईआरएफ टीम ने संयुक्त रूप से भागीदारी की। रेस्क्यू कार्य में कार्यवाहक डिस्ट्रिक्ट कमांडेंट होमगार्ड राजेश शर्मा, सी.डी.आई. आर.पी. त्रिपाठी, हवलदार स्टोर मेन विकास शर्मा, होमगार्ड सैनिक रामराज सिंह, राजेश दहायत, विवेक शर्मा, मदन त्रिपाठी, हरवंश सिंह, एसडीईआरएफ सैनिक अक्षय पांण्डेय, अभिषेक दुबे, ललित सिंह, विपिन खरे और सचिन दुबे शामिल थे।


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!