July 18, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

गेस्ट टीचर पर एफआईआर के निर्देश,डीईओ ने थमाई नोटिस

मित्रों के साथ शेयर करें

वर्ष 2019 से 2022 के दरमियान हाइस्कूल रायपुर में पदस्त अतिथि शिक्षक गांव में मनरेगा मजदूरी का लाभ भी लिया है, इधर अतिथि शिक्षक के रूप में स्कूल में भी बराबर अतिथि शिक्षक हाजिरी लगा रहा था, इस मामले की शिकायत के बाद जांच अधिकारियों ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया था, जिसके बाद डीईओ उमेश धुर्वे ने इस पूरे मामले पर कड़ा रुख लेते हुए संकुल प्राचार्य करकेली, विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी मानपुर एवम शासकीय हाई स्कूल रायपुर को सम्बंधित अतिथि शिक्षक के विरुद्ध जुलाई माह में एफआईआर के निर्देश दिए थे,परन्तु कार्यवाही न होता देख डीईओ ने दूसरी बार पुनः इन अधिकारियों को अगस्त माह के शुरुवाती हफ्ते में एफआईआर के निर्देश दिए,परन्तु फिर भी इन अधिकारियों द्वारा कोई भी कार्यवाही न होता देख मंगलवार 23 अगस्त को इन जिम्मेदार अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी की गई है।दरअसल इस मामले की शिकायत कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव से की गई थी,जिसके बाद पूरे मामले की जांच के लिए कलेक्टर ने जिला पंचायत सीईओ को निर्देशित किया था।जांच उपरांत कलेक्टर ने अतिथि शिक्षक संजीव तिवारी एवम रोजगार सहायक सीतेश तिवारी के विरुद्ध प्रकरण कायमी के निर्देश दिए थे। गौरतलब है कि अतिथि शिक्षक संजीव तिवारी जनपद मानपुर के ग्राम समरकोईनी के है,इसी गांव में रोजगार सहायक के रूप में इनके छोटे भाई सीतेश तिवारी पदस्त है। इस पूरे मामले में अतिथि शिक्षक के साथ उनके छोटे भाई रोजगार सहायक सीतेश तिवारी पर भी कलेक्टर ने प्रकरण कायमी के निर्देश दिए है।सवाल इस बात का है कि शासकीय राशि के दुरुपयोग से जुड़े इस मामले में किस तरह अतिथि शिक्षक एक ही दिन दो अलग अलग जगह पर उपस्थिति दर्ज करा रहा था।इस मामले में जांच के दौरान शासकीय हाइस्कूल रायपुर में पदस्त प्राचार्य पर भी गाज गिर सकती है,क्योंकि फिलहाल इस मामले में ये साफ नही है कि एक ही समय दो अलग अलग जगहों पर हाजिरी में अतिथि शिक्षक कहा सेवाएं दे रहा था। जांच के दौरान इस बात की भी पुष्टि हो सकती है।विदित हो कि रोजगार सहायक सीतेश तिवारी पर कुछ माह पहले अपने पिता को आवास योजना के लाभ देने के भी आरोप लगे थे,जिस पर प्रशासन स्तर से जांच उपरांत वसूली के आदेश दिए गए है।

कलेक्टर ने जताई थी नाराज़गी

जिला शिक्षा अधिकारी के प्रथम स्मरण में एफ़आईआर के निर्देश आदेश में अतिथि शिक्षक संजीव तिवारी पर अवैधानिक आर्थिक लाभ अर्जित कर शासकीय राशि के गबन की बात उल्लेखित की है,इस आदेश की माने तो अतिथि शिक्षक वर्ष 2019 से जुलाई वर्ष 2022 तक शा.हाइस्कूल रायपुर में नियमित सेवारत रहे है,इसी अवधि में जनपद मानपुर के ग्राम समरकोईनी में राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना अंतगत संचालित कार्यों में अपने छोटे भाई सीतेश तिवारी ग्राम रोजगार सहायक समरकोईनी की मिली भगत से अवैधानिक रूप से उपस्थिति दर्ज करा कर मजदूरी भुगतान प्राप्त किया है,अनैतिक रूप से अतिथि शिक्षक ने ये पूरी राशि मानपुर स्थित भारतीय स्टेट बैंक से प्राप्त किये है।इस पूरे मामले में कलेक्टर के निर्देश के बाद भी एफआईआर न होने पर 8 अगस्त को आयोजित समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने नाराजगी भी व्यक्त की थी,जिसके बाद शिक्षा विभाग हरकत में आया,और अब शिक्षा विभाग से जुड़े सम्बंधित कर्मियों को उच्च अधिकारियों ने कारण बताओ नोटिस थमाई है।



अपने क्षेत्र के व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप एवं फेसबुक ग्रुप से जुड़ने, के लिए यहां क्लिक करें

   लाइक फ़ेसबुक पेज     

   यूट्यूब चैनल लाइक एवं सब्सक्राइब   

   Follow on Twitter   

   टेलीग्राम पर ज्‍वाइन करें   

कृपया ज्‍यादा से ज्‍यादा शेयर करें। तथा कमेंट में अपने विचार प्रस्‍तुत करें।

सबसे पहले न्‍यूज पाने के लिए नीचे लाल बटन पर क्लिक करके सब्‍सक्राइब करें।

खबरें फटाफट

, ,

मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!