June 17, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

कर्मचारी की नीयत बिगड़ी, भाई के साथ मिलकर कराई लूट

मित्रों के साथ शेयर करें

जबलपुर. गोहलपुर के अमखेरा रोड पर शुक्रवार दोपहर मोबाइल एक्सेसरीज का काम करने वाले व्यापारी से 24 लाख 20 हजार रुपए लूटने वाले पांच आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनके पास से लूट के 20 लाख रुपए बरामद हुए हैं। आरोपियों ने जयंती कॉम्प्लेक्स से व्यापारी का पीछा किया और अमखेरा में वारदात को अंजाम दिया था। यहां से आरोपी बेलखाडू होते हुए मझौली के जंगल पहुंचे और रकम का बंटवारा किया। यह जानकारी शनिवार को पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित पत्रकारवार्ता में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) उमेश जोगा ने दी। इस दौरान डीआइजी राजाराम सिंह परिहार और एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा भी मौजूद थे। एडीजीपी ने आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 25 हजार रुपए का नकद इनाम देने की घोषणा की है।

यह है मामला

आमनपुर, कालीमठ निवासी राजकुमार तिवारी एक्सेसरीज शहर के मोबाइल दुकान संचालकों को बेचता है। उसने शुक्रवार को जयंती कॉम्प्लेक्स के दुकानदारों से रकम लेकर दो बैग में रखा। एक बैग में 24 लाख 20 हजार रुपए और दूसरे बैग में कुछ और रुपए रखे। राजकुमार बाइक की पेट्रोल टंकी के ऊपर दोनों बैग रखकर खजरी खिरिया निवासी बहन के घर जाने के लिए रवाना हुआ। गोहलपुर थाने के पास अमखेरा रोड पर दो बदमाश पहुंचे और 24 लाख 20 हजार रुपए से भरा बैग लूटकर भाग गए थे।

ये हुए गिरफ्तार

● कमलेश झारिया उर्फ कम्मू निवासी कृष्णा कॉलोनी गोहलपुर

● अंशुल चौधरी उर्फ अंशु निवासी भोला नगर माढ़ोताल

● सुमित बेन निवासी ढीमर मोहल्ला, फूटाताल, बिरयानी सेंटर का कर्मचारी
● शिवम चौरसिया निवासी अंधेरदेव कोतवाली, हार्डवेयर दुकान का संचालक
● गौरव चौरसिया उर्फ समर्थ निवासी भानतलैया, जयंती कॉम्प्लेक्स स्थित मोबाइल दुकान का कर्मचारी

ऐसे हुआ खुलासा

पुलिस टीम को जानकारी मिली कि लूट का मुख्य आरोपी गोहलपुर थाना क्षेत्र का आदतन अपराधी कमलेश झारिया है। पुलिस टीम उसके घर पहुंची, तो कमलेश और अंशु भाग गए। पुलिस ने उनका पीछा किया तो वे पनागर में छिप गए। कुछ देर बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि लूट में शामिल सुमित और शिवम चौरसिया नरसिंहपुर की ओर भागे हैं। जबलपुर पुलिस ने नरसिंहपुर पुलिस से सम्पर्क किया और उनके सहयोग से दोनों को गाडरवारा से गिरफ्तार किया।

वारदात के बाद मझौली के जंगल भागे

पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि लूट का मास्टर माइंड गौरव और उसका रिश्ते का भाई शिवम है। गौरव जयंती कॉम्प्लेक्स स्थित एक मोबाइल दुकान में काम करता है। वह राजकुमार को अक्सर दुकान संचालकों से मोटी रकम ले जाते देखता था। गौरव ने यह बात शिवम को बताई। इसके बाद शिवम ने कमलेश, अंशु और सुमित के साथ लूट की साजिश रची। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि गौरव शुक्रवार को दुकान गया। दुकान के बाहर मोपेड पर कमलेश और अंशु और दूसरी मोपेड पर शिवम और सुमित सवार थे। राजकुमार के पैसे लेकर निकला, तो गौरव ने शिवम को सूचना दी। इसके बाद चारों ने राजकुमार का पीछा किया। राजकुमार के अमखेरा पहुंचने पर कमलेश और अंशु बैग लूटकर फरार हो गए। वारदात के बाद वे बेलखाडू और वहां से मझौली के जंगल पहुंचे। रुपयों का बंटवारा कर कमलेश और अंशु अपने घर आ गए। शिवम और सुमित नरसिंहपुर की ओर भाग गए। इन चारों आरोपियों को पुलिस टीम ने वारदात के 24 घंटे के भीतर दबोच लिया। गौरव को शनिवार शाम विजय नगर से गिरफ्तार किया गया।



अपने क्षेत्र के व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप एवं फेसबुक ग्रुप से जुड़ने, के लिए यहां क्लिक करें

   लाइक फ़ेसबुक पेज     

   यूट्यूब चैनल लाइक एवं सब्सक्राइब   

कृपया ज्‍यादा से ज्‍यादा शेयर करें। तथा कमेंट में अपने विचार प्रस्‍तुत करें।

सबसे पहले न्‍यूज पाने के लिए नीचे लाल बटन पर क्लिक करके सब्‍सक्राइब करें।

खबरें फटाफट


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!