June 17, 2024

VINDHYA CITY NEWS

सच्‍ची खबर अच्‍छी खबर

*नगरीय निकाय चुनाव की तारीखों का ऐलान, दो चरण में होंगे मतदान*

मित्रों के साथ शेयर करें

भोपाल. मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय के चुनावों की तारीखों की घोषणा कर दी गई है, प्रदेश में दो चरणों में 49 जिलों में मतदान होगा। जिसके तहत पहले चरण में 11 और दूसरे चरण में करीब 38 जिलों में मतदान होगा, 17 जुलाई को पहले चरण और 18 जुलाई को दूसरे चरण के नतीजे आएंगे। भोपाल, इंदौर, ग्वालियर में पहले चरण में चुनाव होगा।

राज्य निर्वाचन आयुक्त बीपी सिंह ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेस के माध्यम से नगरीय निकाय चुनावों की तारीखों की घोषणा की है, उन्होंने बताया कि प्रदेश में दो चरणों में चुनाव होंगे, पहले चरण में 133 और दूसरे चरण में 214 निकायों में मतदान होंगे। मतदान के लिए 87 हजार 937 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। वहीं मतदान ईवीएम मशीन के माध्यम से होंगे।

  • प्रत्यक्ष प्रणाली से होगा मेयर का चुनाव
  • 321 मेंं 318 सीटों पर नगरीय निकायों का चुनाव होगा।
  • नगर पालिका-परिषद में पार्षद चुनेंगे अध्यक्ष।
  • दो चरणों में होगा नगरीय चुनाव।
  • पहले चरण में 133 नगरीय निकाय में चुनाव।
  • दूसरे चरण में 214 नगरीय निकाय में चुनाव।
  • 19 हजार 977 मतदान केंद्र रहेंगे।
  • पहले चरण में 11 जिलों में मतदान होगा।
  • दूसरे चरण 38 जिलों में मतदान होगा।
  • ईवीएम से मतदान होगा।
  • मतदान सुबह 7 से शाम 5 बजे तक होगा।
  • अलीराजपुर, मंडला और डिंडोरी में नहीं होंगे चुनाव।
  • पहला चरण का मतदान 6 जुलाई को होगा।
  • दूसरे चरण का मतदान 13 जुलाई को होगा।
  • भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में पहले चरण में चुनाव होगा।
  • 11 जून से 18 जून तक भरे जाएंगे नामांकन पत्र।
  • 18 जून नामांकन की अंतिम तारीख।
  • 22 जून नाम वापसी की तारीख।
  • झूठा शपथ पत्र देने पर केस दर्ज होगा।
  • सभा-रैलियों के लिए अनुमति लेना जरूरी ।
  • नोटा का भी विकल्प रहेगा।
  • 17 जुलाई को पहले चरण का परिणाम घोषित।
  • 18 जुलाई को दूसरे चरण का परिणाम घोषित

इससे पहले सोमवार को मध्यप्रदेश में नगर पालिका और नगर परिषदों की रिजर्वेशन की प्रक्रिया रविंद्र भवन में 5 घंटे तक चलती रही। कुल 99 नगर पालिका में ओबीसी के साथ ही एससी और एसटी वर्ग के लिए आरक्षण किया गया। इसमें अजा वर्ग के लिए 15 अध्यक्ष पद आरक्षित किए गए। अजजा के लिए अध्यक्षों की 6 सीटें आरक्षित हुईं। इसमें OBC को 28% से ज्यादा आरक्षण मिला। कुल 99 अध्यक्ष पदों में से ओबीसी के लिए 28 पद आरक्षित किए गए। शेष 50 नगर पालिकाएं अनारक्षित हो गईं। इनमें से आधी यानि 25 नगर पालिकाओं में अध्यक्ष के पद महिलाओं के लिए आरक्षित किए गए। इसके बाद प्रदेश की कुल 298 नगर परिषदों के अध्यक्ष की आरक्षण की कार्रवाई शुरू हुई, जोकि करीब 4 घंटे तक चली। 35 नई नगर परिषदों के लिए आरक्षण हुआ। इनमें SC, ST और OBC वर्ग के लिए 131 नगर परिषदें आरक्षित हुई हैं जबकि बाकी बची 132 परिषदें अनारक्षित रहीं। इनमें से 66 में अध्यक्ष पद महिलाओं के लिए आरक्षित किए हैं।



अपने क्षेत्र के व्‍हाट्स एप्‍प ग्रुप एवं फेसबुक ग्रुप से जुड़ने, के लिए यहां क्लिक करें

   लाइक फ़ेसबुक पेज     

   यूट्यूब चैनल लाइक एवं सब्सक्राइब   

कृपया ज्‍यादा से ज्‍यादा शेयर करें। तथा कमेंट में अपने विचार प्रस्‍तुत करें।

सबसे पहले न्‍यूज पाने के लिए नीचे लाल बटन पर क्लिक करके सब्‍सक्राइब करें।

खबरें फटाफट


मित्रों के साथ शेयर करें
error: Content is protected !!